FPS क्या है? Videography में Frame per Second क्या है

आज की article मैं आपको बताऊंगा FPS क्या है Photography और videography में FPS का क्या use है, और YouTube video के लिए कितनी FPS पर Video record करना चाहिए। यह हर एक सवाल का जवाब आपको इस article के अंदर मिल जाएगी।
what is frame per second, fps in Still photography, fps in Videography,FPS in time-lapse video

FPS का full form हई Frame per Second। असल में FPS एक video graphic term है। अगर आपका videography में interest है, या तो अगर आप ने हाल ही में कोई smartphone खरीदा है जिसका camera specification में 30 और 60 fps लिखा हुआ है, या तो आपने कई बार सुना होगा यह camera 60 fps पर video record करता है।

जैसा कि मैंने पहले बताया, fps एक videography शब्द है और एफपीएस का फुल फॉर्म Frame per Second है। हम जो photo capture करते हैं उसको कहते हैं 1 frame। तू fps का full form से थोड़ा-थोड़ा समझ में आ रहा है कोई camera एक second में जितनी frame capture करेगा उसको कहते हैं fps। fps समझने से पहले आप को समझना होगा कि video कैसे record होती है। 

एक्चुअली camera video record नहीं करता, दुनिया में कोई भी camera चाहे वहsmartphone हो या फिर dslr या फिर कोई भी camera से आप video record नहीं कर सकते, camera सिर्फ एक photo capture कर सकते हैं।

अगर आपको लगता था कि camera से video record हो सकती है तो यह आपकी बहुत बड़ी गलतफहमी थी, क्योंकि आज तक ऐसा कोई कैमरा बना ही नहीं जो वीडियो रिकॉर्ड कर सके।

fps in Still photography

तो फिर हम जो वीडियो देखते हैं वह कैसे रिकॉर्ड होती है। हम सभी Camera का उपयोग still photo लेने के लिए करते हैं, और Camera केवल still photo लेने के लिए बना है। but कैमरे के जरिए वीडियो रिकॉर्डिंग भी करना पॉसिबल है। जब कैमरा से फोटो कैप्चर किया जाता है तब एक फोटो को वन फ्रेम कहते हैं। मतलब आप अगर अपनी कैमरा से सिर्फ एक फोटो कैप्चर करेंगे तो उसे कहते हैं 1 frame per second। अब fps स्टील फोटो और वीडियो कैप्चर मामलों में उपयोग किया जाता है। मतलब डिफरेंट इतना ही है कि आप camera से still photo 11 fps तक maximum capture कर सकते हो, इसका मतलब है कि आप एक सेकंड में 11 photo स्टिल ले सकते हैं। साधारण डीएसएलआर में अभी भी अधिकतम पांच से छह एपीएस तस्वीरें लेना संभव है। जैसे ही CAMERA की कीमत बढ़ेगी, rate of Frame per Second बढ़ेगा। यह स्टील फोटो लेने के लिए है।

fps in Videography

 अब आइए videography में fps की भूमिका पर जाएं। वीडियो का एक और नाम  है Motion Picture। वास्तव में एक video के अंदर बहुत सारी still photos होती है, camera बहुत सारी still photos capture करती है और साड़ी photos को ओने बाय वन सेट करके एक video के format में आपको देती है। camera एक video के लिए 1 sec में कितनी still इमेजेज capture करेगी, उसे कहते हैं fps।  मतलब आपने अगर सेट कर दिया कि 30 fps, मतलब आपका कैमरा जब video record करेगा तब 1 sec में30 frame capture करेगी।


मतलब जब आप अपनी मोबाइल या फिर कैमरा से वीडियो रिकॉर्ड कर रहे हो उस टाइम पर आपका मोबाइल या फिर कैमरा एक के बाद एक still images capture कर रही है 1 sec में 30 या 60 फ्रेम पर सेकंड के हिसाब से। और उस टाइम पर ही कैमरा साड़ी फोटोस को 1 by 1 सेट  कर रही है और आपको एक video की shape मिल रही है।

Video recording हमें fps की भूमिका

वास्तव में, Video  की रिकॉर्डिंग में fps  की भूमिका बहुत अधिक है। video record करने के लिए, 1 sec में कितने photos capture करना हैं, वो डिपेंड करती है fps पर। यही है, यदि आप 30 या 60 FRAME सेकंड प्रति CAMERA का चयन करते हैं, तो आपका CAMERA या स्मार्टफोन प्रति सेकंड 30 या 60 फ़्रेम का कैपचर करेगा। और उनimages को क्रमिक श्रृंखला में अनुक्रमित करके एक वीडियो बनाएगा।

FPS in time-lapse video

आपने time-lapse video देखा ही होगा। किसी वीडियो को फास्ट करने के लिए टाइम लैप्स वीडियो बनाया जाता है। अब time-lapse वीडियो और fast-forward वीडियो में डिफरेंस है। मतलब अगर आपको ज्यादा time  के लिए video शूट करना है, अब मान लो कि 1 दिन या फिर 1 महीने के तब आप time-lapse वीडियो रिकॉर्डिंग कर सकते हो। 24 hr का time lapse video सिर्फ 1 hr में complete किया जा सकता है।  क्योंकि time-lapse video में हम frame rate को बहुत कम रखते हैं, यूजुअली standard video  में हम 30 fps पर शूट करते हैं, मतलब 1sec में 30 frame हिसाब से आपका camera video record करेगी. लेकिन time lapse की वीडियो में हम इस frame rate को घटाकर 1sec per frame से वीडियो रिकॉर्डिंग करते हैं, मतलब आपका camera 1 sec में 1 frame की हिसाब से video record करेगी। जहां पर standard frame rate पर 1 min का video में 1800 frame होती है 

एक fast-forward वीडियो ऑल टाइम लव वीडियो में बहुत ज्यादा डिफरेंस है टाइम लेप्स एक raw वीडियो है जहां पर हम फ्रेमरेट को कम करके वीडियो रिकॉर्ड करते हैं लेकिन fast-forward वीडियो सिर्फ एडिटिंग में होता है इसलिए टाइम लेप्स वीडियो ज्यादा सिनेमैटिक लगता है।

उम्मीद है आप समझ गए होंगे Frame per second क्या है और video recording में फ्रेमरेट इतना ज्यादा महत्वपूर्ण क्यों है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ